Monthly Archive: November 2020

0

क्यों हुई अर्थव्यवस्था बीमार

क्यों हुई अर्थव्यवस्था बीमारराजनीती की ऐसी विसातऔर सियासत में,अब जनता पिसरही है बीच लाइन मेंनोट बदलने की,लगी है बैंक में,लंबी रोज़ कतार। भिनसारे से,अफरा-तफरी,धक्का-मुक्की होती।बेचारी जनतालाइन में पल-पल धीरज खोती।।भीड़-भाड़ में,नया बखेड़ा,रोज नयी तकरार।।...

0

लोकतंत्र गणतंत्र और षडयंत्र

लोकतंत्र गणतंत्र और षडयंत्रमेरे देश में गण फुटपाथ पर सोता है,तंत्र कोठी बंगले में सोता है।गण एकलव्य सा निहत्था अकेला हैद्रोणाचार्य के हर छल को झेला है,तंत्र के संग धन है, बल हैगण के...

सोचता हूँ कुछ ऐसा लिखू 0

इतिहास क्या लिखा जाएगा

इतिहास में क्या लिखा जाएगा ?” इस दुनिया में सबसे बड़ी अदालत इतिहास की है, कोर्ट में क्या हुआ, हाई कोर्ट, सुप्रीम कोर्ट में क्या हुआ ?युद्ध में क्या हुआ ?, इलेक्शन में क्या...

भारतीय आयरनमैन और आयरनलेडी 1

भारतीय आयरनमैन और आयरनलेडी

भारतीय आयरनमैन और आयरनलेडी जी हाँ ! दो महान शख्सियत जिनसे आप बखूबी परिचित है। एक जिसे लौह पुरूष अर्थात आयरन मैन के नाम से जाना जाता है जिन्होंने भारत को एक अखण्ड राष्ट्र...

काशी की कशमकश 0

काशी की कशमकश

काशी की कशमकश “कलाम -ऐ- पाक की कसमें,आयत और रवायत भीतुम्हारी शातिराना चुप्पीऔर मजहब की हिमायत भीसभी ज़िंदा थीं कलकाशी के किनारों परउसी काशी की बेटी कोतुमने मार डाला है खून के कतरे औरबिखरे...

0

पराली का रोना रोये

जो लोग दिवाली के पटाख़े बजाय हर पल पानी पी पीकर पराली पराली का रोना रोये जा रहे हैं, वो दिवाली के दिन से अचानक pollution में rise देख लो। और ये हर साल...

error: Content is protected !!