Monthly Archive: January 2021

0

छोटी सी लिस्ट ख़्वाहिशों की

सुनो ……. छोटी सी लिस्ट ख़्वाहिशों कीतुम रूह में ठहर गये होजाओगे निकल के तोमैं लाश बन जाऊंगाऔर…रूह मेंबसी हुई जानकिसी और के साथ होयह हरगिज़ बर्दाश्त नहीं मुझे मुझको क्या हक,मैं किसी को...

0

हमेशा मां को देखा

मां के लिए क्या कहूं,मां ख़ुद में ही पूर्ण हैजीवन के हर किरदार में मां सम्पूर्ण हैं,बचपन से लेकर अब तकहमेशा मां को देखाजो हर एक काम में निपुण हैं,पुत्री के रूप में पिता...

0

उसने अपना घर बनाया

उसने अपना घर बनायाऔकात तो जन्म सेही नहीं छोड़ी थी आपने।उसने घास फूस का घर बनाया।आपने उसे तोड़ दिया।उसने गारा गोबर से घर बनाया।आपने उसे तोड़ दिया।उसने कच्ची ईंटों से घर बनाया।आपने उसे तोड़...

0

मानसिक समस्याएं और स्टिग्मा

मानसिक समस्याएं और स्टिग्मा । जी हाँ मेरे एक फिजिसियन दोस्त ने बताया कि जब उन्होंने डिप्रेशन से ग्रसित एक व्यक्ति को ये कहा कि आपके सारे लक्षण डिप्रेशन नामक बीमारी के लगते हैं...

काशी की कशमकश 0

यह नदियों का मुल्क

यह नदियों का मुल्क है,पानी भी भरपूर है ।बोतल में बिकता है,पन्द्रह रू शुल्क है।यह शिक्षकों का मुल्क है,स्कूल भी खूब हैं।बच्चे पढने जाते नहीं,पाठशालाएं नि:शुल्क है।यह अजीब मुल्क है,निर्बलों पर हर शुल्क है।अगर...

0

लौट आता हूँ वापस

लौट आता हूँ वापस घर की तरफ… हर रोज़ थका-हारा,आज तक समझ नहीं आया की जीने के लिए काम करता हूँ या काम करने के लिए जीता हूँ। बचपन में सबसे अधिक बार पूछा...

error: Content is protected !!