Category: कविता

कविताओं द्वारा  प्रमुख मुद्दों पर विचार एवं विश्लेषण

0

कदम रुक गएजब पहुंचे

कोई दिल मे तो कोई,छोड़ कर मुर्दाघर चल दियापड़ी थी लाश अभी घर मे,कोई मर्घट पर चल दियाकैसे कैसे सितम मिलते है,अब इस जमाने मे देखोकोई कान्धो पर तो कोई,छोड़ कर सरे राह चल...

0

जी हाँ देश में अब रोज़गार नहीं है

डिग्रियां टंगी दीवार सहारे,मेरिट का ऐतबार नहीं है,सजी है अर्थी नौकरियों की,जी हाँ देश में अब रोज़गार नहीं है। शमशान हुए बाज़ार यहाँ सब,चौपट कारोबार यहाँ सब,डॉलर पहुंचा आसमान पर,रुपया हुआ लाचार यहाँ सब,ग्राहक...

0

कलम का कागज से

आज कलम का कागज सेमै दंगा करने वाला हूँ,मीडिया की सच्चाई कोमैं अब नंगा करने वाला हूँमीडिया जिसको लोकतंत्र काचौंथा खंभा होना था,खबरों की पावनता मेंजिसको गंगा होना थाआज वही दिखता है हमकोवैश्या के...

0

संविधान के जन्मदिवस पर

72 वें गणतंत्र दिवस पर ,संविधान के जन्मदिवस पर ।कुछ मातम कुछ खुशियाँ लेकर ,आशा और निराशा लेकर ।जज्बात के रिस्ते जख्मो पर ,मरहम लेकर आई है ।छब्बीस जनवरी आई है ।। आजादी की...

आज 26 जनवरी का दिन 0

आज 26जनवरी का दिन

जाग उठा हैं अपना हिंदोस्तानआज 26जनवरी का दिनगणतंत्र दिवस समारोह का स्वाभिमानजाग उठा हैं अपना हिंदोस्तानआज़ादी की नारे लिए,मचल उठा हैं अपना हिंदोस्तान,माता बहने बच्चे बूढ़े,सड़क पर हैं अपना हिंदोस्तान।आँधी बादल ठंडी बारिश,लांछन दमन...

0

मैं विचार विमर्श करूंगा

मैं विचार विमर्श करूंगा,हाँ, अवश्य करूंगा।ये विचारों का मंथन न होता,तो शायद मेरा भी,आज जनेऊ होता,सूर्य को पानी देता।कर रहा होता कर्मकांड,जो मेरे पुरखे करते थे,गुरूनानक देव जी के,आगमन से पहले।अब तुम चाहे मुझेनिंदक...

error: Content is protected !!