Category: संझिप्त कहानी

संझिप्त कहानी द्वारा  प्रमुख मुद्दों पर विचार एवं विश्लेषण

0

शिव के अनूठे रूप

सनातन धर्म में भगवान शिव को मृत्युलोक देवता माना गया है। शिव को अनादि, अनंत, अजन्मा माना गया है यानि उनका कोई आरंभ है न अंत है। न उनका जन्म हुआ है, न वह...

0

पत्तल -दौने की परंपरा

आओ पत्तल -दौने की परंपरा पुनर्जीवित करें ?पत्तलों से लाभ : सबसे पहले तो उसे धोना नहीं पड़ेगा, इसको हम सीधा मिटटी में दबा सकते है। पानी नष्ट नहीं होगा। कामवाली नहीं रखनी पड़ेगी,...

0

परास्त बूढ़ी माता

अपनी ही शिक्षा से परास्त बूढ़ी मातादरअसल ये उस #पारिवारिक #सामाजिक शिक्षा का #आईना हैजिसमे हम आप बचपन से #सीखते आये व बच्चे को #सिखाते आये है कि–“जो देगा, वो यही मूर्ति देगा”ये #मूर्ति...

0

प्रतिरोध प्रतीक ऑगस्त लेंडमेसर

प्रतिरोध प्रतीक ऑगस्त लेंडमेसर कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल हो रही है जो भीड़ में अलग ही देखी जा सकती है ये तस्वीर बयां करती है विरोध की… प्रतिरोध की…तो...

0

लाल बहादुर शास्त्री जी

ये वही लाल बहादुर शास्त्री जी है जिन्होंने अपने प्रधानमंत्री रहते समय लाहौर पे ऐसा कब्ज़ा जमाया था की पुरे विश्व ने जोर लगा लिया लेकिन लाहौर देने से इनकार कर दिया था |...

0

गाँधी जयंती अंतरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस

महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती है और कृतज्ञ राष्ट्र उन्हें स्मरण कर रहा है। दुनियाभर में 2 अक्टूबर का दिन गाँधी जयंती अंतरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस के रूप में भी मनाया जाता है। संयुक्त...

error: Content is protected !!