Tagged: पिता

0

संयुक्‍त परिवार का व्‍यापार

संयुक्‍त परिवार का व्‍यापार संयुक्‍त हिन्‍दू परिवार का व्‍यापार एक विशिष्‍ट प्रकार का संगठन है जो भारत में अद्वितीय है। यहां तक कि भारत के भीतर इसका अस्तित्‍व केवल कुछ ही भागों तक सीमित...

0

” आदमी से पिता”

” पुरुष से पिता बनता है” जब पत्नी स्वयं माँ बनने का समाचार सुनाये और वो खबर सुन, आँखों में से खुशी के आँसू के रूप में टप टप गिरने लगे तब … आदमी……पुरुष...

0

संयुक्त परिवार वाले पिता जी

पिता की प्रशंसा करनी तोअब दो कालखण्डों में बट गईढाई दशक पहले तक के पिता जीऔर आज के जमाने के पिता जी ! सच कहें तो एक संस्कृतिऔर विचारों का अंतरहैं…तो दोनों ही पिता...

1

एक पिता हुए बिना

एक पिता हुए बिना पिता को जानना असम्भव है पिता की हँसी, उसका रुदन उसकी घुटन यहाँ तक की उसकी मुखरता को चाहकर भी समझ नहीं सकता कोई भी बच्चा उसके मन के कितने...

error: Content is protected !!