Tagged: मधुर

0

कितना प्यारा रिश्ता है

कितना प्यारा,रिश्ता है,उसका और मेरा!जब से हम,मिले है!बस हमारी, अपनी,प्यारी सी,दुनिया है!बिना किसी शर्त ,बिना,किसी बंधन!एक दूसरे केसाथ,वक्त गुजारना!अनगिनत बातें,करते- करतेदूर तक चले,जाना!ढलती शाम में,बैठकर,दूर क्षितिज को,निहारना!ऊगते,सूरज को देख!खुशी से,मुग्ध हो जाना!सुबह की अनछुई,कोमल,रश्मियों...

1

हाँ ! मैं नारी हूँ

हाँ मैं नारी हूँअगर ना समझोंतो मैं तुम सब पर भारी हूँइन रिश्तों में।हाँ ! मैं नारी हूँ कभी…. मां, पत्नी, प्रेमिका, मित्र, बहू, बेटी, बहन, ननद, भाभी, देवरानी, जेठानी, चाची, ताई, मामी, बुआ,...

error: Content is protected !!